इलेक्ट्रिक चॉइस – सस्ते ऊर्जा दरें

सोशल वायरल August 7, 2018 कोशी24न्यूज़ संवाद 0 इंफ्रास्ट्रक्चर ताजा खबर  Home > Locality > 404 Error एग्रीकल्चर लालचंद राजपूत बने जिंबाब्वे क्रिकेट टीम के नए मुख्य कोच
झांसी रायपुर संभाग न्यायालय 0 रेवाड़ी परीक्षा विज्ञप्ति (अन्य झारखंड समाचार के लिए न्यूज़कोड मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)
सिंहभूम (प) प्रमुख सिविल सेवाओं का परिचय Times Now मथुरा दिल्लीवालों को राहत देते हुए दिल्ली इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी कमीशन (डीईआरसी) ने बिजली के बिल में राहत दे दी है. बिजली बोर्ड ने बिजली बिल में रीस्ट्रक्चरिंग की है. इसका फायदा सभी कैटेगरी के ग्राहकों को होगा. इस संशोधन में बिजली बिल का फिक्स्ड चार्ज कम बढ़ा दिया गया है और प्रति यूनिट बिजली का बिल घटा दिया गया है. इसका फायदा उन लोगों को मिलेगा जो हर महीने 400 यूनिट से कम इस्तेमाल करते हैं.
देश की प्रथम ‘हिंदू अदालत’ की जज का ऐलान, आज भी कोई गांधी पैदा हुआ तो कर दूंगी हत्या ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल
बरौनी-स्टेज दो 6.30 4.37 सेंसेक्स, निफ्टी रिकॉर्ड स्तर से फिसले, लगातार पांचवीं साप्ताहिक बढ़त दर्ज की
Managment Team प्रतिक्रिया दें नियमित कार्मिक VIDEO: बीजेपी पर बरसीं महबूबा मुफ्ती, लगाया ये बड़ा आरोप
पॉवर कंपनी में इंजीनियर्स की भर्ती के लिए होगी परीक्षा, विडंबना देखिए पावरसिटी को नहीं मिला एक भी सेंटर NewsLetter जॉब Published: Sunday, June 17, 2018 8:49 PM    बुरहानपुर
Uttar Pradesh Scheme मेल बॉक्स सामान्य जनता 111,934,050 14.91
बिजनेस न्यूज़ वार्षिक रिपोर्ट एकदमे खतम हो गया क्‍या बिहार का सिस्‍टम, पत्रकार राजपुरोहित के बेल के विरोध में थी सरकार Uncategorized
ड्यू डेट से पूर्व बिल पेमेंट पर 0.5% छूट 08-March-2018 पावर ट्रांसमिशन कंपनी में महिला दिवस आयोजित
Md. Saheb Ali रिलायंस इंफ्रा से जुड़ी बिजली वितरण कंपनी बीएसईएस यमुना पावर लिमिटेड ने चिट्ठी में कहा है कि आर्थिक तंगी की वजह से कंपनी बिजली नहीं खरीद सकती. कंपनी के मुताबिक पूर्वी दिल्ली के इलाकों में 8 से 10 घंटों की बिजली कटौती हो सकती है. जैसी जानकारी मिली है उसके मुताबिक जरूरत के बावजूद बीएईएस-यमुना करीब 500 मेगावाट बिजली नहीं खरीदेगी और इसकी भरपाई घंटों की कटौती से की जाएगी.
यज्ञशाला शुभारम्भ का कार्यक्रम स्थगित 23/08/2018 Home | Chhatisgarh | Korba | पावर कंपनी में 393 एई व जेई की भर्ती के लिए 24 केन्द्रों में होगी ऑनलाइन परीक्षा
saubhagya yojna यूपी में 27 से 30 अगस्त के बीच होगा ‘ट्रैवल मार्ट’ का आयोजन प्रेषित समय :08:53:32 AM / Wed, Jun 13th, 2018 अब तक घरेलू उपभोक्ताओं के लिए डीएस-1 की तीन  श्रेणी और डीएस-2 की दो श्रेणी थी. अब घरेलू उपभोक्ताओं को केवल शहरी और  ग्रामीण की श्रेणी में बांटा गया है
क्विज University Daily News धर्म/ज्योतिष August 1, 2017 Binod Karan आपका ज़िला 0 ई-निविदाएं (सीएमएम) सपा सरकार ने वर्ष 2012 के अपने चुनावी घोषणा-पत्र में वादा किया था कि ”आने वाले दो वर्षों में बिजली की उपलब्धता ग्रामीण क्षेत्रों के लिये 20 घण्टे और शहरी क्षेत्रों में 22 घण्टे की जायेगी। उद्योग और कृषि के लिये बिजली की आपूर्ति में कोई कमी नहीं आने दी जायेगी’’। परन्तु आज लगभग सवा तीन वर्ष बीत जाने के बाद भी यह सपा सरकार अपने इन वादों को थोड़ा भी पूरा करने के मामले में ना केवल पूरी तरह से विफ ल साबित हुई है, बल्कि इन वादों को पूरा करने के मामले में अभी तक कोई ठोस क़दम भी नहीं उठा पाई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता सब जानती है और उसने ”अपराध-नियंत्रण व क़ानून-व्यवस्था के साथ-साथ जनहित व विकास एवं बिजली’’ के क्षेत्र में भी बी.एस.पी. की सरकार के बेहतरीन कार्यों को देखा व परखा एवं अनुभव किया है।
विनेश फोगाट ने 50 किग्रा वर्ग कुश्ती में जीता गोल्ड, जापान की युकी को 6-2 से हराया 29,891.00283.00 DIG की सख्त कार्रवाई का असर, पटना में हफ्ते भर में 800 से अधिक अरेस्टिंग
MD Desk देश की सबसे बड़ी एयरलाइंस के प्रमुख ने अचानक दिया इस्तीफा Remove राजस्थान विश्वविद्यालय: एबीवीपी का पैनल घोषित, राजपाल अध्यक्ष पद उम्मीदवार
8- एलटेल पावर प्राइवेट लिमिटेड, सतना पश्चिम बंगाल सतना Top Portfolio as on 31-07-2018 पुलिस ने गुप्त सूचना पर घर में दी दबिश, शराब सहित एक गिरफ्तार
FOLLOW (3) गौरतलब है कि ऊर्जा मंत्रालय इस पर तैयार किए गए मसौदे पर विशेषज्ञों से अंतिम चर्चा कर रहा है। माना जा रहा है कि जल्द वह इस पर आगे कदम बढ़ाएगा।

राज्य की विद्युत कंपनियों यूपीसीएल, यूजेवीएनएल, पिटकुल और एसएलडीसी ने वितरण, उत्पादन और पारेषण का टैरिफ प्रस्ताव विद्युत नियामक आयोग को दिया था। यूपीसीएल ने बिजली की दरों में लगभग 13 फीसदी की वृद्धि का प्रस्ताव आयोग को दिया। आयोग इस प्रस्ताव पर जन सुनवाई कर सुझाव आमंत्रित कर चुका है। बिजली की दरों में वृद्धि के प्रस्ताव पर ऊर्जा निगमों की राय भी ली। इसके बाद आयोग ने नई दरों का एलान किया। 
दृष्टि व्यावसायिक (ग्रामीण) (0-100 यूनिट)  2.20  5.25 चेहरे पर दही लगाने के जानें 5 बड़े फायदे रायपुर.  चुनावी साल में सभी को खुश करते हुए छत्तीसगढ़ सरकार ने बिजली की दरों में औसतन 22 पैसे प्रति यूनिट की कमी की है। यह कमी घरेलू, गैर घरेलू, औद्योगिक और अन्य सभी वर्ग के उपभोक्ताओं में बांटी गई है। यानी हर वर्ग के टैरिफ में कमी की गई है। उद्योगों से लेकर हाई वोल्टेज उपभोक्ताओं को भी  राहत देने की कोशिश की गई है।  नई दरें 1 अप्रैल 2018 से लागू होंगी। छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत विनियामक आयोग ने बिजली की औसत दर (औसत लागत के आधार पर पावर कंपनी की दर) को 6.44 रुपए प्रति यूनिट से घटाकर 6.22 रुपए किया है। इससे बिजली कंपनी के राजस्व में 531 करोड़ रुपए की कमी आएगी।
Tweet with a location पंजाब सरकार ने बिजली दरें बढ़ाकर आम आदमी पर बोझ डाला
कोटद्वार अगर आपका स्मार्टफोन स्लो हो गया है, गर्म होने लगा है, बैटरी टिक नहीं रही, तो पढ़ें यह खबर! प्रपत्र
Get the app ! पूरी हुई PM मोदी की मां हीराबेन की सालों पुरानी ये इच्छा, देखते ही हो गईं भावुक यहां क्लिक करें Content Settings > Notifications > Manage Exceptions Board Meetings
श्री इकबालसिंह गांधी ने कहा कि हमारे प्रदेश के मुख्यमंत्री प्रदेश की जनता के विकास के लिये निरन्तर कार्य कर रहे हैं। प्रदेश के गरीब तबके के लोगों के जीवन स्तर को उठाने के लिये सरकार द्वारा कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। जन्म से लेकर मृत्यु तक की योजनाओं का लाभ जनता को मिल रहा है।
Biz Listings Save Electricity Groups Safety Stock market update: Over 40 stocks hit 52-week lows on NSE| News August 24,2018 03:34:11 PM
विद्युत कंपनियां – अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें विद्युत कंपनियां – सस्ता बिजली और गैस विद्युत कंपनियां – ऊर्जा प्रदाता बदलें

Legal | Sitemap

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *