मेरे पास सस्ता बिजली – मेरे पास बिजली उपयोगिता कंपनियां

अकाउंट एंड सेटिंग व्यावसायिक (शहरी)    (एनडीएस टू)  6.00  6.00 – अनमीटर्ड ग्रामीण घरेलू उपभोक्ताओं की 180 व 200 रुपये प्रति किलोवाट के स्थान पर अब 300 रुपये प्रति किलोवाट की दर से भुगतान करना पड़ेगा। 1 अप्रैल से इन उपभोक्ताओं की दर 100 रुपये प्रति किलोवाट और बढ़ जाएगी और इन्हें 400 रुपये प्रति किलोवाट के हिसाब से बिल चुकाना होगा।
RRB ALP, Technicians Exam 2018: रद्द हुए परीक्षाओं का नया शेड्यूल जारी अपना जिला चुने Previous articleपत्नी का इलाज कराने जा रहे बाइक चालक की सड़क हादसे में दर्दनाक मौत
उनका कहना है कि पर्यावरण विभाग की सहमति के बाद ही उद्योग लग सकते हैं या लगे हुए उद्योगों का विस्तार किया जा सकता है.
पकवान कार्यालयीन निविदा 404 – File or directory not found. Madhya PradeshHoshangabadBetulहजारमजदूरबिजली बिलमाफीसस्ताकनेक्शन Champawat ऊर्जा भवन, लिंक रोड न.-2, शिवाजी नगर, भोपाल, मध्य प्रदेश, भारत, 462016
next › ऑटो रिव्यू 10 साल में पहली बार घटाई गई बिजली की दरें 1 टिप्पणियां ब्लू लाइन मेट्रो में तकनीकी गड़बड़ी, फंसे रहे यात्री रांची : अपराधियों ने शख्स को मारी गोली, कुश गोप…
औरंगाबाद 2.08.2018/ रायपुर  छत्तीसगढ सरकार का एक और किसान विरोधी फ़ैसला : मुफ़्त में बिजली देने की घोषणा करने वाली सरकार मनमाना फ़्लैट रेट से किसानों से बिजली का दाम वसूलेगा,थोड़ा थोड़ा खेत अलग अलग स्थान पर होने के कारण कई किसान 2-3 बोर के लिए पम्प कनेक्शन ले रखे है। उनसे 1 कनेक्धन के बाद
सी टी , 1600 केवी, 6ऐ केरल बाढ़: पाकिस्तान के नए पीएम इमरान खान ने की मदद की पेशकश किसी ने बनाया मोनालिसा तो किसी ने सब्जी वाली, ममता बनीं अनुष्का के फनी मीम्स से हो रहा सुई धागा का प्रमोशन
View all चर्चित खबरें विवरण देखें ON टाटा पॉवर कंपनी लि.ऐतिहासिक कीमतेंलाभांशविभाजनबोनसराइट्सआईपीओ इन्‍फो Appliances
जे आर डी टाटा नीतीश कुमार ने कहा कि एक सोची समझी रणनीति के तहत वर्ष 2017-18 में टैरिफ याचिका को शून्य अनुदान पर तैयार कराया गया है. इस नीतिगत निर्णय के आधार पर आयोग ने बिना अनुदान के  टैरिफ लागत का निर्धारण किया. इससे राज्य सरकार को उपभोक्तावार  अनुदान की राशि तय करने में पारदर्शिता लाने में मदद मिलेगी. साथ ही वितरण कंपनियों की टेक्निकल व कॉमर्शियल लॉस में निरंतर कमी लाने के लिए गहन माॅनीटरिंग की जा सकेगी. नये वर्ष के लिए आयोग ने टैरिफ निर्धारित करते समय पड़ोसी राज्य पश्चिम बंगाल अौर उत्तर प्रदेश के 2016-17 के टैरिफ से तुलना करते हुए राज्य के उपभोक्ताओं को दी जानेवाली सब्सिडी का निर्धारण किया है. 

कार्य-घंटे #raipur Career MP नारी सब्सक्राइब कीजिए कर्क सीवान Neon सस्ती बिजली देनेवाली कंपनी को ही तरजीह देगी बिहार सरकार
Himachal Pradesh New FOLLOW (3) सहयोगात्मक तथा उन्नत अनुसंधान केन्द्र (सीकार)
COMMUNITY ePaper COMMUNITY Jara Hatke अब चेहरा वेर‍िफाई होने पर ही म‍िलेगा स‍िम, दफ्तरों में हाज‍िरी के ल‍िए भी होगा जरूरी
17-Aug-18 12:30 उन्होंने आगे बताया कि फरवरी 2018 तक करीब 59 लाख जन धन खाते बंद हो चुके थे. संन्यासी के पास इतना सोना कहां से आया? साइटमैप
आजकल हनीप्रीत और राम रहीम का जेल में है डेरा, देखिए अब उनका क्या हो गया है हालचंडीगढ़: डेरा सच्चा सौदा प्रमुख
New Delhi 1993 से लाभांश अदा कर रही है | All rights are reserved by Deshbandhu. Copyright @ 2018. देशबन्धु बाहरी साइटों पर मौजूद सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है.
कॅरियर-जॉब्स जंजगीर-चम्पा अपना शहर चुनें नई दिल्ली: बिजली मंत्री आर के सिंह ने सोमवार (25 सितंबर) को कहा कि भारत अगले साल दिसंबर तक सभी घरों को बिजली पहुंचाने का लक्ष्य हासिल कर लेगा. साथ ही सभी गांवों का विद्युतीकरण समय से पहले इस साल दिसंबर तक हो जाएगा. सरकार ने बिजली से वंचित सभी गांवों में एक मई 2018 तक विद्युत पहुंचाने का लक्ष्य रखा है. इसी प्रकार सरकार का मार्च 2019 तक सातों दिन 24 घंटे बिजली पहुंचाने का लक्ष्य है. सभी घरों को बिजली पहुंचाने की ‘सौभाग्य’ योजना शुरू किये जाने के जाने के मौके पर सिंह ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री ने दिसंबर 2018 का लक्ष्य दिया है. हम इसे करेंगे. यह एक कड़ा लक्ष्य है, लेकिन हम इसे हासिल करेंगे. सभी परिवारों को दिसंबर 2018 तक बिजली मिलेगी.’’
Moradabad Submit your news अस्पताल में नवजात की मृत्यु को दुर्भाग्य पूर्ण बताते हुए सामाजिक और राजनीतिक संगठनों ने मोर्चा खोल दिया है। कांग्रेस के स्थानीय नेता अभिनव सिंह का कहना है कि बच्चे की मौत अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही से हुई तथा परिजनों को गलत प्रमाण पत्र भी दिया गया, इसलिए दोनों ही मामले को गम्भीरता से लेते हुए दोषी कर्मी और डॉक्टर पर कार्रवाई होनी चाहिए। सिविल सर्जन बनदेवी झा ने मामले की जांच का आश्वासन दिया है।
Contact us: [email protected] अन्‍य सुविधाऍं
नई दिल्ली: दिल्ली में बिजली के दाम घट गए हैं लेकिन फिक्स चार्जेस बढ़ा दिए गए हैं. घरेलू बिजली की दरें  एक से डेढ़ रुपये प्रति यूनिट कम की गईंहैं. दिल्ली बिजली नियामक प्राधिकरण (डीईआरसी) की बुधवार को हुई बैठक में यह फैसला लिया गया.
Twitter may be over capacity or experiencing a momentary hiccup. Try again or visit Twitter Status for more information.
26.1°C सीतापुर हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार को फटकार लगाई कहा- 42 हजार फेल छात्रों को दें दाखिला July 2018 टिप्स – ट्रिक्स 21-Aug-18 08:53
निविदाएँ नारी शक्ति प्रेग्नेंसीचाइल्ड केयरब्यूटी टिप्स फैशन मेकअपहाउसकीपिंग गुजरात दिनांक वार खबरें
2017-18 30740 मिलियन यूनिट जिला निर्वाचन अधिकारी ने की चुनावी तैयारियों की समीक्षा भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाए- खत्री पन्ना। रडार न्यूज   …
सबसे ज्यादा पढ़े गए तिरछी नज़र Homeआपका ज़िलाबिजली दर वृद्धि के विरोध में भाजपाइयों ने फूंका ऊर्जा मंत्री का पुतला
बीबीसी के बारे में August 16, 2018 Movie Review : सोनाक्षी ने भी डाली हैप्पी के किरदार में जान, दो-दाे हैप्पी की भागम-भाग बन गई कम्पलीट फैमिली एंटरटेनर मजदूर, गरीब, किसान  व्यापारी को मिलेगी सब्सिडी 
प्रमुख उपलब्धियां 12-Aug-2016 स्वतंत्रता दिवस पर पावर ट्रांसमिशन कंपनी के 220 केवी उपकेन्द्र नयागांव में प्रबंध संचालक द्वारा प्रातः 7.30 बजे ध्वजारोहण
स्टार्ट-स्टॉप दिल्ली के एक करोड़ से भी अधिक लोगों के घरों को रोशन करने वाली बिजली कंपनी बीएसईएस यमुना और राजधानी सस्ती बिजली खरीदकर लोगों को महंगी बेच रही हैं। यह बात आरटीआई से मांगी गई जानकारी में सामने आई है। कंपनियों ने सस्ते दामों पर 75 फीसदी से अधिक बिजली खरीदी।
बिजली दरों की तुलना करें – आज स्विच करें बिजली दरों की तुलना करें – स्थानीय बिजली प्रदाता बिजली दरों की तुलना करें – टेक्सास बिजली

Legal | Sitemap

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *